तीनों सेनाओं के 09 जांबाजों को बहादुरी के लिए मिला ‘शौर्य चक्र’