ग्रामीणों की सावधानी बनी सुरक्षा कवच, गांव को नहीं छू सकी कोरोना की पहली और दूसरी लहर