कोरोना काल में इस शिक्षक ने पेश की अनोखी मिसाल, स्‍कूटर को ही बना दिया चलता-फिरता विद्यालय