कोरोना काल के दौरान भी विदेशी मुद्रा भंडार में दर्ज की गई वृद्धि, भारतीय अर्थव्यवस्था के लिए अच्छा संकेत